ये मोर्चा गजब है...सीधे सीएम पर वार और सीएम एकदम चुप

मोर्चा का नाम आते ही एक ही मोर्चा याद आता है। रघुनाथ सिंह नेगी का मोर्चा। उत्तराखंड के सभी मोर्चों में इस मोर्चे को निर्विवाद रूप से श्रेष्ठ मोर्चा घोषित किया जा सकता है। मैं गलत भी हो सकता हूं...। बस थोड़ा सा लोग इसलिए घबराते हैं कि कांग्रेसी रहे है...बल। हैं या नहीं...मुझे भी पक्कता पता नहीं है। बाकी तो काम मौर्चा पूरी तरह मोर्चे पर डटा हुआ है। मोर्चा ने सीएम के कारनामों के खिलाफ मोर्चा खोला रहता है। हर दिन कुछ ना कुछ तो मोर्चा वाले करते ही रहते हैं। सवाल सरकार से नहीं...सीधे सीएम से। मजाल क्या सीएम कि जो कुछ बोल दें। जुबान ही नहीं खुलती...। एकदम चुप...।

नाम है जनसंघर्ष मोर्चा...। सीएम पर कई सवाल उठाए। सीएम को माफिया का हमराही बताया। खनन में मिलीभगत के आरोप लगाये। रोजगार के मसले पर सवाल खड़े किये। अब सीएम की रिश्तेदार का नया मामला खड़ा कर दिया...। इस बार भी वार सीधे सीएम पर ही किया। सीएम की रिश्तेदार के लिए ना नियम हैं और ना कानून। 


 
ऐसे मोर्चों की जरूरत है। अगर निस्वार्थ काम करें। पता चला...अभी सीएम पर सवाल उठा रहे हैं और कल खुद ही सवालों में घिर जाएं...। वैसे मोर्चा में कुछ तो बात है, जो उसको भीड़ से अलग करती है...। आरटीआई के जिरये हो या किसी और माध्यम से...। वो जानकारी जुटा ही लेते हैं। अब तक जितने भी आरोप जड़े हैं। सभी तथ्यों और दस्तावेजों के साथ जड़े...। मोर्चा ने ऐसा मोर्चा संभाल रखा है कि सीएम मोर्चा नहीं ले पा रहे...।

मोर्चा की खबरों को छापने की भी मोर्चाबंदी है। अखबार तो ज्यादा ध्यान देते नहीं। कुछ न्यूज पोर्टल छापते थे। वो भी अब चुप हो गए। कुछ हैं जो मोर्चा के साथ मोर्चा ताने हैं। मैं भी पहली बार ही मोर्चा के लिए मोर्चा ले रहा हूं। कुछ और साथी भी हैं मोर्चा संभाले हुए। पता नहीं वो भी कब मोर्चा का साथ छोड़ दें। जो भी हो...अब तक मोर्चा की मोर्चाबंदी कमाल कमाल की रही।

मोर्चा की पीसी टाइप खबरों को सभी लिखते हैं। मैंने सोचा मैं मोर्चा के लिए मोर्चा ले लेता हूं। मोर्चा को इस बात के लिए साधुवाद कि भयंकर त्रिवेंद्र वाद में भी हो मोर्चा लिए हुए हैं। हां ये बात अलग है कि हमारी तो वेबसाइट बैन करा दी...उनकी जुबां पर सीएम का राज नहीं चलता...तो बंद नहीं करा पाये। बहरहाल...मोर्चा वालों...मोर्चा बांधे रहो, मजबूती से खोले रहो...। 
                                                             ...प्रदीप रावत (रवांल्टा)
ये मोर्चा गजब है...सीधे सीएम पर वार और सीएम एकदम चुप ये मोर्चा गजब है...सीधे सीएम पर वार और सीएम एकदम चुप Reviewed by पहाड़ समाचार www.pahadsamachar.com on Thursday, August 22, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.