1970 में भी आई थी भीषण आपदा, पूरे बंगाण क्षेत्र में हर तरफ तबाही का मंजर

त्यूनी: त्यूनी आराकोट में आज भयंकर बाढ़ से लोग सहमे हुए हैं। मोरी से लगे दुचाणु से लेकर आरोकोट, त्यूनी तक हर तरह तबाही का मंजर नजर आ रहा है। नदी इस तरह खतरनाक हो चुकी है कि नदी तल से कई फीट ऊपर बने पुल को बाढ़ का पानी छू रहा है। त्यूनी बाजार से 35 परिवारों को खाली करा दिया गया है। त्यूनी खेल मैदान और हेलीपैड तक पानी भर गया। इसके अलावा क्षेत्र में 15 घरों के बहने और कम से कम 10 लोगों के मरने की खबर सामने आ रही है। लोगों ने पूरी रात जागकर काटी। 


जानकारी के अनुसार 1970 में त्यूनी में इसी तरह की भीषण बाढ़ आई थी। तब भी बाढ़ ने भयंकर तबाही मचाई थी। देर रात ये हो रही बारिश के कारण नदी का जलस्तर खतरे के हर निशान को पार कर गया है। क्षेत्र में नदी पर बने कई पुलों को नदी अपने साथ बहा ले गई। जबकि मुख्य पुल को नदी का जलस्तर छू रहा है। 


देर रात से हुई बारिश के कारण आराकोट के टिकोची, दुचाणू समेत कई क्षेत्रों में भारी तबाही हुई है। स्थानीय ग्रामीण एमएस रावत ने बताया कि क्षेत्र में भारी तबाही हुई है। लोगों को बहुत नुकसान हुआ है। कई लोग मलबे में दब गए, जबकि कई लोगों को अब तक पता ही नहीं चल पाया है। लोगों के घर भूस्खलन के कारण तबाह हो गए हैं। जिसके चलते जनजीवन पूरी तरह प्रभावित हो रहा है। लोग डरे और सहमे हुए हैं।

1970 में भी आई थी भीषण आपदा, पूरे बंगाण क्षेत्र में हर तरफ तबाही का मंजर 1970 में भी आई थी भीषण आपदा, पूरे बंगाण क्षेत्र में हर तरफ तबाही का मंजर Reviewed by पहाड़ समाचार www.pahadsamachar.com on Sunday, August 18, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.