17 लोगों को लील गई आपदा, कइयों के दबे होने की आशंका, एक दिन बाद पहुंची राहत

आराकोट: मोरी तहसील के आराकोट, डगोली, टिकोची, त्यूनी समेत अन्य क्षेत्रों में हुई भारी तबाही के बाद मौत का आंकड़ा सामने आ गया है। कल तक जो मौम का आंकड़ा 10 था। वो अब बढ़कर 17 हो गया है। राहत-बचाव कार्य शुरू कर दिया गया है। मेडीकल से लेकर खाने-रहने की सारी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। घायलों को उपचार के लिए देहरादून लाया गया है। आपदा ने सरकार के क्वीक रिस्पांस सिस्टम की भी पोल खोल कर रख दी। 


आपदा की सूचना घटना की रात को ही जिला प्रशासन को मिल चुकी थी, लेकिन जिला प्रशासन चुप्पी साधे रहा। जब आपदा की भयावहता सोशल मीडिया पर सामने आई। उसके बाद जिला प्रशासन सक्रिय हुआ। जबकि सरकार को सक्रिय होने में उससे भी ज्यादा समय लगा। इससे सरकार की गंभीरता का अंदाजा लगाया जा सकता है। 

आपदा सचिव एसए मुरुगेशन ने बताया कि राहत-बचाव कार्य तेज कर दिया गया है। एसडीआरएफ, एनडीआरएफ, आईटीबीपी, वायुसेना, पुलिस और मेडिकल टीमों को बेस कैंप पहुंचा दिया गया है। प्रभावित क्षेत्रों में जाने के लिए टीमें बना दी गई हैं। पुलिस के आला अधिकारी और उत्तरकाशी जिला प्रशासन के अधिकारी भी मौके पर पहुंच चुके हैं। 


उन्होंने बताया कि लोगों को मेडीकल सुविधाएं दी जा रही हैं। सबसे पहले घायलों को सही उपचार दिया जाएगा। जो लोग बेघर हो गए हैं। उनके लिए खाने-पीने की सारी सुविधाएं की जा रही हैं। राहत सामग्री मौकों पर पहुंचाई जा रही है। जिन जगहों पर पुल बह गए हैं। फिलहाल त्यूनी और आराकोर्ट के लिए दो वैली ब्रिज भेजे जा रहे हैं। पुल बनने के बाद लोगों को निकाला जाएगा। उन्होंने बताया कि क्षेत्र में लोगों को एहतियाह बरतने के लिए कहा गया है।
17 लोगों को लील गई आपदा, कइयों के दबे होने की आशंका, एक दिन बाद पहुंची राहत 17 लोगों को लील गई आपदा, कइयों के दबे होने की आशंका, एक दिन बाद पहुंची राहत  Reviewed by पहाड़ समाचार www.pahadsamachar.com on Monday, August 19, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.