ये रिपोर्ट डरावनी है : 3 माह, 133 गांव, 216 बच्चों का जन्म, पर किसी घर में नहीं जन्मी बेटी

उत्तरकाशी: जिले में एक चैंकाने वाला मामला सामने आया है। ऐसी रिपोर्ट, जिसने सबको हिलाकर रख दिया। रिपोर्ट इशारा कर रही है, कि कहीं बेटियों को कोख में ही तो नहीं मार दिया गया। उनको जन्म लेने से पहले ही मौत के घाट तो नहीं उतार दिया गया। रिपोर्ट चैंकाने वाली है। जिले में 3 माह में 133 गांवों में 216 बच्चे पैदा हुए, लेकिन हैरान करने वाली बात ये है कि इनमें से एक भी बेटी का जन्म नहीं हुआ। जानकारी के आमने आने के बाद उत्तरकाशी से लेकर देहरादून तक स्वास्थ्य महकमें में हड़कंप मचा हुआ है। मामले की जांच शुरू कर दी गई है।

हालांकि उत्तरकाशी में लिंगानुपात दर बहुत खराब नहीं है, लेकिन ताजा मामला कुछ और ही बयां कर रहे हैं। जांच में सामने आई इस बात ने सरकार के बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ समेत सरकार की तमाम योजनाओं पर सवाल खड़े कर दिए हैं। डीएम आशीष चैहान ने इसकी जांच शुरू कर दी है।

दरअसल, स्वास्थ्य विभाग सभी जिलों में एक रिपोर्ट तैयार कर रहा है। उस रिपोर्ट में मार्च, अप्रैल और मई तक की रिपोर्ट में जो तथ्य सामने आए। उन तथ्यों ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को हैरानी में डाल दिया। अधिकारी ये नहीं समझ पा रहे हैं कि आखिर ऐस कैसे हो गया। हालांकि पूरी जानकारी जांच के बाद ही सामने आएगी कि ऐसा कैसे हो गया कि एक भी बेटी ने किसी भी गांव में जन्म नहीं लिया। रिपोर्ट के मुताबिक जिले के 133 गांवों में तीन माह के भीतर कुल 216 प्रसव हुए, लेकिन इनमें एक भी बिटिया ने जन्म नहीं लिया। सरकारी रिपोर्ट में ही बिगड़ते लिंगानुपात की यह स्थिति सामने आने से जिला प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है।

डॉ.आशीष चैहान ने संबंधित गांवों की आशा कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की। इस मामले को लेकर आशा कार्यकर्ताओं से बात की और ऐसा होने के कारणों की भी पड़ताल करने की कोशिश की। डीएम ने बताया कि सभी संबंधित गांवों को रेड जोन में शामिल किया गया है। उन्होंने आशा कार्यकर्ताओं की ओर से भेजी गई रिपोर्ट नियमित रूप से मदर चाइल्ड ट्रैकिंग सिस्टम पोर्टल पर अपलोड करने के निर्देश दिए।


ये रिपोर्ट डरावनी है : 3 माह, 133 गांव, 216 बच्चों का जन्म, पर किसी घर में नहीं जन्मी बेटी ये रिपोर्ट डरावनी है : 3 माह, 133 गांव, 216 बच्चों का जन्म, पर किसी घर में नहीं जन्मी बेटी Reviewed by पहाड़ समाचार www.pahadsamachar.com on Friday, July 19, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.