जय हिन्द: 218 रिक्रूट कड़ी ट्रेनिंग के बाद बने सेना का हिस्सा

लैंसडाउनः लैंसडाउन की भवानी दत्त जोशी परेड ग्राउंड में एक भव्य शपथ ग्रहण समारोह में कोर्स 84 के 218 रिक्रूटों ने राष्ट्रीय और रेजिमेंट की विधिवत शपथ लेकर सेना में शामिल हो गए। गढ़वाल राइफल का एक बड़ा गौरवशाली इतिहास रहा है देश की आन बान और शान की सुरक्षा के लिए गढ़वाल राइफल ने असंख्य कीर्तिमान स्थापित किए हैं। चाहे वह विश्वयुद्ध  हो या  फिर पड़ोसी देशों से  हुआ कई बार युद्ध। गढ़वाल राइफल के जवानों ने सभी मोर्चों पर दुश्मनों को धूल चटाई है। 


गढ़वाल राइफल के जवानों को कंधों पर लगी लाल रंग  की रॉयल रस्सी इसकी वीरगाथा का परिचायक है। इसी गढ़वाल राइफल को विक्टोरिया क्रॉस भी प्राप्त हुए हैं। लैंसडाउन की भवानी दत्त जोशी परेड ग्राउंड में जवानों के चेहरे और दिल में देशभक्ति का जज्बा लेकर उनके बढ़ते कदम ताल देखने को बनते थे ।इस मौके पर ट्रेनिंग ऑफिसर लेफ्टिनेंट कर्नल बिक्रमजीत सिंह विर्क ने परेड निरीक्षण किया और मेजर जनरल अजय सेठ ने परेड की सलामी ली और उन्हें शपथ दिलाई। 

उन्होंने कहा आज बड़े गर्व की बात है कि कोर्स 84  के  218 रिक्रूट सेना में शामिल हो गए हैं और उनका विश्वास है कि आने वाले दिनों में ये सैनिक गढ़वाल राइफल का नाम और ऊंचा करेंगे। इस मौके पर जवानों के परिजनों का खुशी का ठिकाना न था। वे अपनांे को सेना की वर्दी में देखकर स्ययं को गौरवान्वित महसूस कर रहे थे ।
जय हिन्द: 218 रिक्रूट कड़ी ट्रेनिंग के बाद बने सेना का हिस्सा जय हिन्द: 218 रिक्रूट कड़ी ट्रेनिंग के बाद बने सेना का हिस्सा Reviewed by पहाड़ समाचार www.pahadsamachar.com on Saturday, June 15, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.