पांच महीने, 443 सड़क हादसे और 290 लोगों की मौत

देहरादून: उत्तराखंड में सड़क हादसे लगातार बढ़ते जा रहे हैं। पिछले पांच माह में प्रदेशभर में 443 सड़क हादसों में 290 लोगों की मौत हो चुकी है और 365 लोग घायल हुए। हालांकि परिवहन विभाग के पास घायलों की अपडेट जानकारी नहीं है कि घायलों में से कितने लोग बचे और कितनों की मौत हो गई। खास बात यह है कि हर हादसे के पीछे तेज गति और चालक की लापरवाही सबसे बड़ा कारण है। उत्तराखंड में अब तक जितने भी सड़क हादसे हुए हैं। उनमें 80 प्रतिशत देहरादून, ऊधमसिंह नगर, हरिद्वार और नैनीताल में हुए हैं। 


अगर 2018 की बात करें तो पूरे साल प्रदेशभर में 1468 सड़क दुर्घटनाएं हुई, जिनमें 1047 लोगों की मौत हो गई। जबकि 1571 लोग घायल हो गए। प्रदेशभर में जितने भी एक्सीडेंट हुए हैं, उनका 80 प्रतिशत देहरादून, ऊधमसिंह नगर, हरिद्वार और नैनीताल में हुए हैं। पहाड़ी जिलों में भी हादसों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। 

वहीं अगर देशभर की बात करें तो प्रति वर्ष देश में 5 लाख से ज्यादा सड़क दुर्घटनाओं में लगभग डेढ़ लाख से ज्यादा मौते हो जाती हैं। जबकि पांच लोग हर साल इन दुर्घटनाओं में घायल हो जाते हैं। सड़क हादसे कई परिवारों के घरों के चिराग तो बुझाते ही हैं। कुछ मामलों में पूरे परिवार के परिवार ही तबाह हो जाते हैं।
पांच महीने, 443 सड़क हादसे और 290 लोगों की मौत पांच महीने, 443 सड़क हादसे और 290 लोगों की मौत Reviewed by पहाड़ समाचार www.pahadsamachar.com on Tuesday, June 11, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.