"हार्ट टानिक" के रंग अनेक, काम एक, मन को शांति देते हैं इसके रंग


  • बागेश्वर, देवेंद्र पांडेय

पिंडर घाटी को प्रकृति ने कई प्रकार के सुंदरता से निखारा है। ग्लेशियरों के अलावा यहां पांच किस्म का बुरांश भी खिलता है। इस बुरांश पर एफआरआई देहरादून से हर साल रिसर्च करने के लिए वनस्पति वैज्ञानिक आते हैं। इस साल भी दो दिन बाद यहां रिसर्च करने के लिए वैज्ञानिक पहुंचेंगे। पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करने में सफेद बुरांश सबसे आगे रहता है। यह पांच हजार फिट ऊंचाई वाले बुग्यालों में होता है। पिंडरघाटी के चिल्ठा के जंगलों में यह इस वक्त बहुतायत मात्रा में पाया जाता है।


बुरांश का नाम लेते ही हर किसी के जेहन में उसके लाल रंग तथा उसके जूस की गुणवत्ता खुद ही आ जाती है। काफी कम लोग जानते हैं कि बुरांश का फूल पांच रंग में खिलता है। पिंडरघाटी के उच्च हिमालयी जंगलों में इन दिनों लाल, सुर्ख लाल, हल्का तथा तेज गुलाबी के अलावा सफेद रंग का बुरांश खिल रहा है। 15 अप्रैल से पिंडर ग्लेशियर की साहसिक यात्रा शुरू होती है। लोग हिम नदियों को देखने के लिए यहां पहुंचते हैं, ग्लेशियर पहुंचने से पहले ही प्रकृति पर्यटकों को अपनी ओर खींचने लगती है। विनायक धूर के पास पहुंचते ही हिमालय की लंबी हिम श्रृंखला के दर्शन पर्यटकों को होने लगते हैं। यहां से 35 किमी दूर खाती गांव अपनी सुंदरता से पर्यटकों को रिझाने लगता है। इस सबके बीच चिल्ठा का जंगल पांच रंग के बुरांश के फूलों से देसी-विदेशी पर्यटकों का स्वागत करता है। इन दिनों पूरा जंगल बुरांश के फूलों से खिला हुआ है। सबसे अधिक सफेद रंग का बुरांश लोगों को अधिक पसंद आता है। यहां पहुंचने के बाद कई लोगों को मालूम होता है कि बुरांश सफेद भी होता है। पर्यटकों के अलावा यहां के बुरांश पर गत वर्ष से फोरेस्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट (एफआरआई) देहरादून से वनस्पति विज्ञान पर रिर्च करने यहां वैज्ञानिक आते हैं। इस बार भी दो दिन बाद एक दल यहां पहुंच रहा है। 

रंग अलग काम एक
बुरांश के फूलों का रंग भले ही पांच किस्म का होता है, लेकिन दवा के रूप में इसका उपयोग एक सा होता है। इसका जूस हार्ट टॉनिक के नाम से बाजार में बिकता है। अधिकतर लोग लाल रंग के फूल का अधिक जूस बनाते हैं। लाल फूलों से रस ज्यादा निकलता है। 
-
"हार्ट टानिक" के रंग अनेक, काम एक, मन को शांति देते हैं इसके रंग "हार्ट टानिक" के रंग अनेक, काम एक, मन को शांति देते हैं इसके रंग Reviewed by पहाड़ समाचार www.pahadsamachar.com on Friday, May 10, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.