हरदा और त्रिवेंद्र के बीच बयानों की सोशल नूराकुश्ती

हरदा भी कमाल हैं। कभी त्रिवेंद्र को कंडाली का डर दिखाते हैं, तो कभी आम खिलाते हैं। दोनों नेताओं के बीच सोशल मीडिया पर खूब नूराकुश्ती चल रही है। ठीक है। होनी भी चाहिए। पर मैं ठैरा सवाली और शकी मनखी। मेरे तो मन में हर घड़ी, हर पल बस सवाल ही उबलते रहते हैं। कई लोग मुझ पर ही तंज कस देते हैं कि भाई क्या खयाली पुलाव पकाते रहते हो। 

चलो...मैं ठैरा सवाली-जवाबी। मुझे क्या। सवाल पूछने हैं तो पूछने ही हैं। छोड़ो इन फालतू की बातों को। अब असल मसले पर आते हैं। हरदा तो बेचारे आजकल बेरोजगार टाइप हैं। चुनाव प्रचार के बहाने कभी गोल गप्पे खा रहे हैं। कभी कापफ पार्टी का मन बना रहे हैं। हरदा की टेंशन की एक वजह ये भी लगती है। दरअसल, हरदा काफल पार्टी कराना चाहते थे, लेकिन चुनाव आयोग ने उनको करने की अनुमती नहीं दी। फिर क्या था, हरदा को हंसी वाला गुस्सा आ गया। 

इधर, सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत से एक सवाल पूछने का मन बहुत दिनों से कर रहा था। वो ये कि उनके पास इतना समय कहां से मिलता है कि वो कभी हरदा के साथ उत्तराखंड छोड़कर भागजाने की बात करते हैं, तो कभी पहाड़ी व्यंजन बनाने के लिए तैयार हो जाते हैं। हो सकता है आजकल कुछ फ्री होंगे। वरना उनकी तो पूरी टीम ही लगी रहती है ट्वीटर वगेरा पर। 

इतना ही नहीं। टीएसआर की तो फेसबुक पर भी टीम बैठा रखी है। इधर हमने कुछ लिखा नहीं कि, उधर टम से टीएसआर की टीम ने दे पेलम-पेल। कसम से मैं तो बहुत दुखी हूं। मेरा खता कई बार बंद कर चुके हैं। अब तो टीम वाट्एप पर भी हमले चालू हो गए हैं। बहरहाल सरकार और चाहे किसी का भी अकाउंट बंद करा दे। हरदा को छेड़ भी नहीं सकते। हिम्मत है तो हरदा का खता बंद करके दिखाओ...। गजब ठैरा बल। 

दोनों नेता सोशल मीडिया पर डींगे खूब हांक रहे हैं। प्रदेश में बेरोजगारों का कुछ हरदा ने बनाया बचाखुचा त्रिवेंद्र ने भट्टा भैठा दिया। डबल इंजन की खराबी ठीक होने का नाम ही नहीं ले रही। देहरादून पहुंचने के बाद डबल इंजन धुंओ ज्यादा छोड़ने लगता है। सरकार धुंएं के कुहासे में अपने सारे पाप छुपा ले रही है। पर बेरोजगारों की धात-जैंकार से बचने वाली नहीं। कह रहे हैं कि हमारा भी टाइम आएगा। पता नहीं कैसा आइम आएगा...? राम मालिक । 
  • प्रदीप रावत (रवांल्टा)
हरदा और त्रिवेंद्र के बीच बयानों की सोशल नूराकुश्ती हरदा और त्रिवेंद्र के बीच बयानों की सोशल नूराकुश्ती Reviewed by पहाड़ समाचार www.pahadsamachar.com on Thursday, May 02, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.