अम्मा के दान ने लौटाई गांव वालों की मुस्कान

उत्तरकाशी: उत्तरकाशी जिले के उपला टकनौटर पांच गांवों के ग्रामीणों के चेहरों पर अब मुस्कान है। उनकी खोई खुशियां लौट आई हैं। पूर्ण विद्या संस्थान ने ग्रामीणों को 54 गाय दान में दी हैं। गंगा घाटी के इस क्षेत्र में शीतकाल में दो से तीन माह तक बर्फबारी होने से गाय गौशाला से बाहर नहीं आ सकती हैं, जिस कारण सैकड़ों गाय और मवेशियों की मौत हो गई थी। इससे क्षेत्र के ग्रामीण खासे दुखी थे। 


आज झाला गांव में अम्मा प्रमानंद ने क्षेत्र की आर्थिक स्थिति को देखते हुए ग्रामीणों को गौदान किया। परमानंद अम्मा ने आज  नेताला तपस्यालय आश्रम के माध्यम से पूर्ण विधा संस्थान की ओर से पांच गांव जसपुर, पुराली, झाला, सुखी और मुखबा के ग्रामीणों को गाय दान की। गंगोत्री घाटी में इस सीजन में लगातार दो से तीन माह तक बर्फबारी होने से घाटी के उपला टकनोर के ग्रामीणों को बर्फबारी से काफी नुकसान उठाना पड़ा। ग्रामीणों की नगदी फसल और मवेशियों के नुकसान की भरपाई आज तक नहीं हो पाई। ग्रामीणों को सरकार ने भी कोई मदद नहीं दी। ग्रमीणों का कहना है कि जब लगातार बर्फबारी हुई। उस समय मवेशियों को बचाने के लिए प्रशासन के सूचना देने के बाबजूद प्रशासन मोके पर नही आया।

गंगोत्री विधायक गोपाल रावत कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रहे। साथ ही उन्होंने कहा कि गौदान, कन्यादान, मतदान और रक्तदान हिमालय की संस्कृति है। उन्होंने अम्मा प्रमानंद का आभार जताया। इस मौके पर हरीश नौटियाल, राजेश सेमवाल, मोहन सिंह राणा सुनील चंद्रा नेगी, राम नौटियाल, धर्मानंद सेमवाल, कामेश्वर, दयानंद डबराल, मंजू राणा, पार्वती रमोला, हेमलता, पुष्पा चैहान मौजूद रहे।
अम्मा के दान ने लौटाई गांव वालों की मुस्कान अम्मा के दान ने लौटाई गांव वालों की मुस्कान  Reviewed by पहाड़ समाचार www.pahadsamachar.com on Tuesday, May 28, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.