ऋषिकेश एम्स में कथक और भरतनाट्यम की धूम

ऋषिकेश : आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में स्पिक मैके संस्था की ओर से शास्त्रीय कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी गई। इस दौरान शास्त्रीय संगीत व कत्थक नृत्य की शानदार प्रस्तुतियों को उपस्थित दर्शकों ने खूब सराहा। स्पिक मैके संस्था के तत्वावधान में एम्स में आयोजित कार्यक्रम का संस्थान के निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि कला व संस्कृति हमारे जीवन का हिस्सा है, इस धरोहर को सहेजने के लिए सभी को आगे आना चाहिए। एम्स निदेशक पद्मश्री प्रो.रवि कांत ने कहा कि मेडिकल के विद्यार्थियों के लिए पढ़ाई के साथ साथ शिक्षणेत्तर कार्यक्रमों का आयोजन भी जरूरी है,जिससे उन्हें मेडिकल जैसी कठिन पढ़ाई के लिए बेहतर माहौल मिल सके। 


निदेशक एम्स पद्मश्री प्रो.रवि कांत ने कहा कि इस तरह के कार्यक्रम हमें अपनी संस्कृति से जोड़ते हैं। इस अवसर पर कत्थक  नृत्यांगना विधा लाल ने विभिन्न भाव भंगिमाओं के साथ नृत्य प्रस्तुतियां देकर तालियां बटोरी। इस दौरान उन्होंने शिव व श्रीकृष्ण की आराधना कृष्ण व  शिव का तांडव व तास्य की शानदार प्रस्तुति दी।


उन्होंने तीन ताल में जयपुर घराने से जुड़े पारंपरिक व शुद्ध कत्थक नृत्य,रसखान का सवैया मोरपखा सिर ऊपर राखहिं आदि बेहतरीन प्रस्तुतियां देकर दर्शकों की भरपूर तालियां बटोरी। कार्यक्रम में तबले पर जोएब अहमद, पखावज पर महावीर गंगानी और हारमोनियम व गायन में जकी अहमद ने शानदार संगत देकर कार्यक्रम को यादगार बना दिया। इस अवसर पर मेडिकल सुपरिटेंडेंट डा.ब्रह्मप्रकाश, डीन एलुमिनाई प्रोफेसर बीना रवि, कार्यक्रम की समन्वयक डा.गीता नेगी, डा.अनुभा अग्रवाल, डा.पूर्वी कुलश्रेष्ठा, डा.एस.वैंकटेश पाई, एसई सुलेमान अहमद, श्रीकांता शर्मा आदि मौजूद थे।
ऋषिकेश एम्स में कथक और भरतनाट्यम की धूम ऋषिकेश एम्स में कथक और भरतनाट्यम की धूम Reviewed by पहाड़ समाचार www.pahadsamachar.com on Tuesday, April 30, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.