श्रद्धांजलि: पेश नहीं होगा उत्तराखंड सरकार का बजट, सदन में लाया जाएगा निंदा प्रस्ताव

देहरादून: आज भाजपा की त्रिवेंद्र रावत सरकार को अपना बजट पेश कर ना था, लेकिन बजट को अब सोमवार को पेश किया जाएगा। विधानसभा में पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद जवानों के शोक में बजट पेश नहीं करने का निर्णय लिया गया है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने आंतकी हमले को कायराना बताया है।  सरकार इस हमले को लेकर सदन में निंदा प्रस्ताव लाएगी।


वित्त मंत्री प्रकाश पंत आज विधानसभा में वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए बजट अनुमान सदन पटल पर प्रस्तुत करने वाले थे। इस बजट में खेती और किसानों को खास तरजीह दिए जाने के संकेत पहले ही दिए गए। सरकार निवेश लक्ष्यों के आधार पर स्वरोजगार, सहकारी क्षेत्र और जैविक खेती को विशेष प्रोत्साहन के लिए भी कुछ बड़ी घोषणाएं कर सकती है। किसानों, बेरोजगारों, ग्रामीणों, वंचितों, गरीबों और कमजोर तबके लिए भी कुछ नई योजनाओं के प्रावधान के संकेत हैं। 

प्रदेश सरकार के सामने 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का का लक्ष्य है। इसको देखते हुए बजट में खेती और किसान के विकास पर भी ज्यादा केंद्रित हो सकता है। यह भी अनुमान लगाया जा रहा है कि सरकार ने पिछले बजट में जो घोषणाएं की थीं, उनमें बजट के प्रावधान को बढ़ाया जा सकता है। लोकसभा चुनाव से पहले त्रिवेंद्र सरकार का यह बजट लोकलुभावन रहने की उम्मीद है। 
श्रद्धांजलि: पेश नहीं होगा उत्तराखंड सरकार का बजट, सदन में लाया जाएगा निंदा प्रस्ताव श्रद्धांजलि: पेश नहीं होगा उत्तराखंड सरकार का बजट, सदन में लाया जाएगा निंदा प्रस्ताव Reviewed by पहाड़ समाचार www.pahadsamachar.com on Friday, February 15, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.