विधानसभा में धरने पर कांग्रेस, सत्र से वाॅकआउट, सरकार पर गंभीर आरोप

देहरादून: आज से उत्तराखंड सरकार को बजट सत्र शुरू भले ही हो गया हो, लेकिन सत्र शुरू होते ही कांग्रेस विधायक धरने पर बैठ गए। पहले से ही सत्र के हंगामेदार रहने के आसार लगाए जा रहे थे। भाजपा को भी इस बात की भनक थी कि कांग्रेस सदन में हंगामा करेगी, लेकिन सत्र शुरू होने से पहले ही धरना शुरू कर देगी, इसकी उम्मीद नहीं थी।


दरअसल, कांग्रेस का आरोप है कि आमतौर पर राज्यपाल का अभिभाषण 11 बजे के बाद होता है, लेकिन भाजपा ने कांग्रेस विधायकों के पहुंचने और 11 बजे से पहले ही राज्यपाल का अभिभाषण करा दिया। इसको लेकर कांग्रेस ने विरोध जताया। सरकार से कोई रिस्पांस ना मिलते देख कांग्रेस विधायकों ने विधानसभा के भीतर ही सीढ़ियों में बैठकर धरना-प्रदर्शन शुरू कर दिया।

उत्तराखंड विधानसभा का बजट सत्र सोमवार से शुरू होने जा रहा है। त्रिवेंद्र सरकार का बजट 14 की जगह अब 15 फरवरी को सदन के पटल पर रखा जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रुद्रपुर में प्रस्तावित रैली को देखते हुए 14 फरवरी को सदन नहीं चलेगा। कार्यमंत्रणा समिति ने रविवार को 11 से 15 फरवरी तक के कार्यक्रमों पर मुहर लगा दी। सोमवार को बजट सत्र के पहले दिन राज्यपाल बेबी रानी मौर्य राज्यपाल बनने के बाद पहली बार सदन में अभिभाषण करेंगी।
 

15 फरवरी को इस वित्तीय वर्ष का बजट सदन में पेश किया जाएगा। आर्थिक तौर पर पिछडे़ सामान्य वर्ग के लोगों के लिए 10 फीसदी आरक्षण का विधेयक बजट सत्र में लाया जाएगा। सदन के पटल पर विधेयक उत्तराखंड अधीनस्थ चयन आयोग धारा-3(ख) संशोधित विधेयक 2019, हिमालयीय विश्वविद्यालय विधेयक 2019, आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों के लिए 10 फीसदी आरक्षण संबंधी विधेयक 2019, सोसायटी रजिस्ट्रीकरण (उत्तराखंड संशोधन) विधेयक 2019 और भारतीय भागीदारी (उत्तराखंड संशोधन) के कुछ पांच विधेयक रखे जाएंगे।
विधानसभा में धरने पर कांग्रेस, सत्र से वाॅकआउट, सरकार पर गंभीर आरोप विधानसभा में धरने पर कांग्रेस, सत्र से वाॅकआउट, सरकार पर गंभीर आरोप Reviewed by पहाड़ समाचार www.pahadsamachar.com on Monday, February 11, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.