लालू यादव बोले...झूठ की टोकरी जुमलों के बाजार में सजाने का कोई फायदा नहीं, जानें किस नेता ने क्या कहा

 नई दिल्ली: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और अरजेडी अध्यक्ष लालू यादव ने अंतरिम बजट को लेकर मोदी सरकार पर तंज कसा है। उनके ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर कहा गया, झूठ की टोकरी जुमलों के बाजार में सजाने का कोई फायदा नहीं। लोग अब जुमले सुनते ही नहीं बल्कि समझते भी हैं। समझ कर मुस्कुराते ही नहीं बल्कि ठहाका लगाते हैं। झूठ की टोकरी जुमलों के बाजार में सजाने का कोई फायदा नहीं। लोग अब जुमले सुनते ही नहीं बल्कि समझते भी है। समझ कर मुस्कुराते ही नहीं बल्कि ठहाका लगाते है।
 

-कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कहा कि अपने 2014 के चुनाव अभियान में बीजेपी ने मत्स्य पालन से जुड़े अलग से एक मंत्रालय गठन करने का वादा किया था, जिसे उसने पूरा नहीं किया।
-अंतरिम बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, ष्इस सरकार के पास कोई नैतिक अधिकार या जिम्मेदारी नहीं है कि वह पांच साल का बजट पेश करे। जब वह सत्ता में नहीं रहेंगे, सरकार एक्सपायर हो जाएगी। एक्सपायरी के बाद अगर आप दवा देंगे तो क्या उसका कोई लाभ होगा?
-मोदी सरकार के अंतरिम बजट पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। खड़गे ने कहा, ष्वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने सदन में चुनावी घोषणापत्र पढ़ा है। उन्होंने वोट के लिए घोषमाएं कीं।
-कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार के अंतरिम बजट पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ष्प्रिय नोमो आपकी पांच साल की नाकामी और घमंड ने किसानों की जिंदगी को बर्बाद कर दिया है। अब उन्हें हर रोज 17 रुपये की राशि देने का ऐलान कर आपने उनका अपमान किया है।
-बजट पर चिदंबरम का हमला: लेखानुदान की जगह पूर्ण बजट पेश कर मोदी सरकार ने किया संविधान का उल्लंघन। बजट पर कांग्रेस नेता चिदंबरम ने हमला किया है। उन्होंने कहा कि लेखानुदान की जगह पूर्ण बजट पेश कर मोदी सरकार ने संविधान का उल्लंघन किया है।
-किसानों के हक में सरकार ने फैसला लिया: पीयूष गोयल, वित्त मंत्री
-यह एक संतुलित बजट हैः मनोहर पर्रिकर
-किसानों के लिए घोषित राशि ऊंट के मुंह में जीरा के समान। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा, आज पेश आम बजट पूरी तरह से चुनावी बजट होकर जुमला और छलावा साबित होगा। मोदी सरकार के इस आखिरी बजट से भी अच्छे दिन की उम्मीद खत्म हो गई। कार्यकाल के अंतिम समय में किसान, गरीब, मजदूर, गौ-माता की याद आई। किसानों के लिए घोषित राशि ऊंट के मुंह में जीरा के समान है।
-गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने बजट को ऐतिहासिक बताया। उन्होंने कहा कि इस बजट में हर वर्ग का ध्यान रखा गया है।
-किसानों के खाते में मार्च से पहले 2 हजार डाला जाएगा। केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों के खाते में मार्च से पहले 2 हजार डाला जाएगा।
-मोदी सकार ने किसानों के जख्मों पर नमक छिड़कने का काम किया। स्वराज इंडिया के अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने कहा कि मोदी सरकार द्वारा साल में 6 हजार रुपये देने का ऐलान किसानों के जख्मों पर नमक छिड़कने जैसा है। उन्होंने कहा कि यह मनरेगा या वृद्धावस्था पेंशन से भी कम है।

लालू यादव बोले...झूठ की टोकरी जुमलों के बाजार में सजाने का कोई फायदा नहीं, जानें किस नेता ने क्या कहा लालू यादव बोले...झूठ की टोकरी जुमलों के बाजार में सजाने का कोई फायदा नहीं, जानें किस नेता ने क्या कहा Reviewed by पहाड़ समाचार www.pahadsamachar.com on Friday, February 01, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.