ऋतिक ने बढ़ाया गांव का मान...छोटे गांव का बड़ा वैज्ञानिक

देहरादून: उत्तराकाशी जिले के नौगांव ब्लाक के बिगराड़ी गांव निवासी मासूम और सीधे से दिखने वाले ऋतिक चमियाल ने बड़ा काम करके दिखाया है। ऋतिक ने गांव की महिलाओं के लिए एक ऐसी मशीन बनाई है, जिससे वो आसानी से धान कूट सकेंगे। धान कूटने के लिए महिलाओं को ना तो पेट्रोल-डीजल की जरूरत होगी और ना ही बिजली की आवश्यकता। ऋतिकराजकीय इंटर कालेज गादोली में 9वीं कक्षा के छात्र हैं।


ऋतिक ने साबित कर दिया कि प्रतिभा वास्तव में मोहताज नहीं होती। छोटे गांव के इस बड़े वैज्ञानिक ने धान कुटाई के लिए मशीन बनाई है। ये ऐसी मशीन है, जिसको पैडल मारकर साइकिल की तरह चलाया जा सकेगा। इससे जहां धान की कुटाई असानी से हो जाएगी। वहीं, साइकिल की तरह पैडल मारकर धान कूटने के साथ व्याम भी कर सकते हैं। मशीन को आसानी से कहीं भी लाया और लेजाया भी जा सकता है। 

ऋतिक के माॅडल को ब्लाक, जिले और राज्य के बाद अब राष्ट्रीय स्तर पर भी सफलता मिली है। ऋतिक के माॅडल को राष्ट्रीय स्तर पर चुना गया है। उनका ये माॅडल अब देशभर की उन महिलाओं का मददगार होगा, जिनको धान कूटने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इन नए युवाओं को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी प्रोत्साहित करेंगे। साथ ही इनके माॅडलों को देश के बड़े वैज्ञानिक भी नई दिशा देंगे। 
ऋतिक ने बढ़ाया गांव का मान...छोटे गांव का बड़ा वैज्ञानिक ऋतिक ने बढ़ाया गांव का मान...छोटे गांव का बड़ा वैज्ञानिक Reviewed by पहाड़ समाचार www.pahadsamachar.com on Friday, February 15, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.