चंद्रशेखर पैन्यूली की प्रधानमंत्री के नाम चिट्ठी...ऐसे ही गुस्से में है देश का हर नागरिक

चंद्रशेखर पैन्यूली... 
कल 14 फरवरी यानि प्रेम इजहार के रूप में मनाए जाने वाला वेलेंटाइन डे पर जब कोई अपने प्रेमी, प्रेमिका, पति, पत्नी के साथ प्रेम से बैठकर खाना खा रहा होगा या खा चुका होगाप्रेम भरी बातें कर रहा होगा। ठीक उसी वक्त लगभग 3:30 बजे जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले के अवंतीपुरा के लाटू मोड़ पर एक IED ब्लास्ट में माँ भारती के लिए सदैव प्रेम करने वाले प्रेमियों ने शहादत दी, सीआरपीएफ के काफिले पर एक  आत्मघाती हमलावर आदिल अहमद वकास ने हमला करके, बेहद दर्दनाक, खौफनाक और कायराना हमला कर 44 जवानों को हमसे सदा के लिए छीन लिया। अब ये दिन वेलेंटाइन डे के अलावा अगले वर्ष से सीआरपीएफ के वीर जवानों की कुर्बानी के लिए अधिक याद रहेगा।
 

इस भयानक ब्लास्ट और इतनी बड़ी संख्या में जवानों की शहादत से पूरे देश में गुस्सा है, हर तरफ आतंकवाद प्रायोजित देश पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लग रहे हैं। शहीदों की शहादत का बदला लेने के लिए पूरा देश एक स्वर में मोदी सरकार से जल्द बड़ा कदम उठाने की माँग कर रहा है। माना जा रहा है कि सितम्बर 2016 उड़ी हमले के बाद विगत 30 वर्षों से ये सबसे भयानक और भयावह हमला है,जो कि हृदयविदारक और रूह को कम्पा देने वाला है। 44 जवानों की शहादत और करीब 40 जवान घायल अवस्था में,हालाँकि अभी तक 37 जवानों की शहादत की पुष्टि की गयी है।हर देशवासी पाक की इस नापाक हरकतों का बड़ा और करारा जवाब देने को सरकार को कह रहा है,पाक के जैश ए मोहम्मद गुट ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है, इस हमले की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सार्क देशों सहित रूस, अमेरिका, फ्रांस आदि ने कड़ी निंदा की है, पूरे देश में गुस्सा व्याप्त है। 
 
कल हुए इस हमले के बाद आगे की रणनीति के लिए आज सुबह पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में CCS यानि सुरक्षा की दृष्टि से सभी फैसले लेने वाली कमेटी की बैठक हुई, जिसमे गृह मंत्री राजनाथ सिंह,विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, वित् मंत्री अरुण जेटली, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण सहित NSA अजीत डोभाल, तीनों सेना प्रमुख, सीआरपीएफ के डीजी,IB के प्रमुख आदि ने भाग लिया। बैठक के बाद पीएम ने कहा कि आतंकियों ने बड़ी गलती कर दी है। अब उन्हें नही छोड़ा जायेगा, सुरक्षाबलों को खुली छूट है। साथ ही पाक से मोस्ट फेवरेट नशन का दर्जा भी छिन गया है। सबूतों के साथ डोजियर दिया जायेगा और अंतरास्ट्रीय स्तर पर भी पाक को अलग-थलग किया जायेगा। ये तो है कुछ फैसले कुछ बातें, लेकिन देश भर से बेहद गुस्से में बात उठ रही है कि आखिर कब तक हम यूँ ही शहीदों के ताबूत में तिरंगे से लिपटी लाशें देखते रहेंगे? क्या हम शहीदों की विधवाओं की माँग का सिंदूर लौटा सकते है? जवाब ना में ही है। क्या हम शहीद की माँ, पिता, भाई बहन को उनके लाड़ले का सहारा दे सकते हैं? जवाब ना में ही है, देश पूछ रहा है, आखिर कब तक हमारे भाई हमसे इस तरह बिछुड़ते रहेंगे। देश के युवा सहित,मातृशक्ति,यहाँ तक कि बुजुर्गो की भी यही मांग है कि पाकिस्तान के खिलाफ खुले युद्ध का ऐलान हो, उसे सबक सिखाना जरूरी है। यदि पीएम मोदी इस वक्त पाक को करारा जवाब देने में सफल हुए देशवासियो के मुताबिक कड़ा कदम उठा लिया तो निसन्देह ये सरकार की सबसे बड़ी उपलब्धि होगी।

मोदी साहब देश पूछ रहा है हमारे जो ये सुखोई है, अर्जुन है, ब्रमोस मिसाइल है या हमारी पनडुब्बी है या मिग है अथवा हम रॉफेल खरीद रहे हैं। ये सब किस लिए, दुश्मन को नेस्तनाबूत करने के लिए न, तो साहब कर दीजिए पाकिस्तान को तबाह। उसने हमारे देश को बर्बाद कर डाला है। अब बातचीत नही बल्कि खून का बदला खून से लेने का समय आ चुका है। इतिहास गवाह है हमारी सेना की वीरता, शूरता और पराक्रम के आगे पाक सदैव घुटनो पर ही बैठा है, तो साहब कर दीजिए इस पाक का काम तमाम, अब हम अधिक बर्दास्त नही कर सकते, आप सेना की मदद के लिए NCC के लड़कों को लो, पुलिस को भी  तैयार करो, युवाओं को भी प्रशिक्षण दो और सेना की सहायता में भेजो पर पाक को जरूर जवाब दो। अब हमारे सैनिको के हाथ न बांधिये, साथ ही देश के अंदर के जयचन्दों, अलगाववादियों को सबसे पहले समाप्त करो। देश के दुश्मनों को ऐसे जघन्य हमले के लिए करारा जवाब दें। यदि आपने इस वक्त करारा जवाब दे दिया तो माननीय प्रधानमंत्री जी सीमा पर जीता हुआ प्रधानमंत्री सदैव देश के अंदर भी जीतता ही है। आप यदि ये घबरा रहे होंगे कि आगामी चुनाव में क्या होगा। सर चुनाव को आगे खिसका दो पर पाक पर कड़ी कार्यवाही करो और यदि आप पाक को धूल चटाने में कामयाब हो गए तो जब भी चुनाव होगा विजयश्री सीमा पर जीते पीएम की ही होती है। ये जरूर याद रखना यदि आप इस बार चूक गए तो आपको इन शहादतों पर  देश की जनता को जवाब देने के लिए भी तैयार रहना होगा।
 
सौनिकों को छूट देकर आपने वैसे मंसूबे जाहिर कर दिए है, बस अब पूरा देश इंतजार कर रहा है पाक को धूल चटाने का।  प्रधानमंत्री जी मै देवभूमि उत्तराखण्ड से आता हूँ, जिसे वीरों की भूमि कहा जाता है।  हमले में भी हमारे दो भाई खटीमा के वीरेंद्र सिंह राणा और उत्तरकाशी बनकोट के मोहन रतूड़ी जी शहीद हुए। हर हमले में मेरे राज्य का कोई न कोई वीर देश के लिए कुर्बानी देता है। पीएम साहब हमारे भाइयो की इस कुर्बानी का आप सृत सहित पाकिस्तान से हिसांब ले,आप एक के बदले 10 सिर लाओ,पाक को करारा जवाब दो, मुझे पता है युद्ध की स्थिति भयावह और पीड़ादायक होती है, लेकिन सर हर बार इस तरह रोते रहने से अच्छा है एक बार जरूर आर पार हो,पीएम रहते अटल बिहारी वाजपेयी जी ने,इंदिरा गांधी जी ने,लाल बहादुर शास्त्री जी ने पाक को उसी की भाषा में जवाब देकर उसको नेस्तनाबूत करके,देश का गौरव बढ़ाया, आपके साथ तो 125 करोड़ कदम है। आप कदम बढ़ाइए फिर देखिये पाक का क्या हाल हमारे वीर जवान करते हैं।
 
मुझे इस तरह जवानों के अधिकारियों के शहादत होने पर बड़ा दुःख है, ये दुःख इसलिए भी अधिक है क्योंकि इस पीड़ा को एक सैनिक आश्रित होने के नाते मैं अधिक गहराई से महसूस कर रहा हूँ। मेरे पापा, चाचा सेना की तोपखाना और इंफेंट्री का हिस्सा रहे हैं, जो कारगिल युद्ध में भी रहे। साथ ही मेरे कई रिश्तेदार, मित्र, भाई सेना या अर्धसेना का हिस्सा है। क्योंकि हमारे राज्य में सेना में जाना एक गौरवशाली परम्परा है। हम विक्टोरिया क्रॉस विजेता गब्बर सिंह, दरबान सिंह, परमवीर चक्र विजेता सोमनाथ शर्मा, अशोक चक्र विजेता भवानी दत्त जोड़ी, महावीर चक्र विजेता जसवंत सिंह  जैसे वीरों के के वंशज हैं। अबकी बार आर-पार कर दो। सरकार कल अवंतीपोरा, पुलवामा में शहीद हुए जाबांजो को शत-शत नमन। साथ ही मातृभूमि के लिए शहीद हुए सभी वीर सपूतों को कोटि-कोटि नमन। आप सदैव अमर रहेंगे।
जय हिन्द, जय भारत।
भारतमाता की जय।
चंद्रशेखर पैन्यूली की प्रधानमंत्री के नाम चिट्ठी...ऐसे ही गुस्से में है देश का हर नागरिक चंद्रशेखर पैन्यूली की प्रधानमंत्री के नाम चिट्ठी...ऐसे ही गुस्से में है देश का हर नागरिक Reviewed by पहाड़ समाचार www.pahadsamachar.com on Friday, February 15, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.