अन्ना हजारे जिएं या मर जाएं, BJP को इसकी कोई परवाह नहीं

रालेगण सिद्धि‍ : महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे ने अन्ना हजारे के अनशन के छह दिन बीत जाने के बाद केंद्र की मोदी सरकार पर जोरदार हमला बोला है. राज ठाकरे ने कहा कि बीजेपी को अन्ना के अनशन की कोई परवाह नहीं है, यही वजह है कि बीजेपी अन्ना से अनशन तोड़ने की बजाय 2019 में सरकार बनाने की चिंता में लगी हुई है.

रालेगण सिद्धि‍ में अन्ना हजारे से मुलाकात करने के बाद राज ठाकरे ने मीडिया से बातचीत में कहा कि  'बीजेपी को कोई परवाह नहीं है, वो (अन्ना हजारे) जिएं या मर जाएं. मैंने उन्हें (अन्ना) बोला है कि इन फालतू के लोगों (बीजेपी) के लिए अपनी जान जोखिम में न डालें. हजारे के कारण मोदी सरकार सत्ता में आ पाई. उन्होंने कहा, "उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के किसी आश्वासन पर विश्वास नहीं करना चाहिए.


राज ठाकरे यहीं नहीं रुके. उन्होंने कहा कि बीजेपी लोगों का इस्तेमाल करती है और फिर उन्हें उठाकर बाहर फेंक देती है. ठाकरे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर झूठ बोलने का आरोप भी लगाया. उन्होंने कहा प्रधानमंत्री मोदी झूठ बोलते हैं. दिसंबर 2013 में उन्होंने लोकपाल का समर्थन किया था. अब वह सत्ता में हैं, लेकिन कुछ नहीं कर रहे हैं.

राज ठाकरे ने अरविंद केजरीवाल को भी निशाने पर लिया. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी की ही तरह अरविंद केजरीवाल ने भी अन्ना का इस्तेमाल किया और अब उन्हें अन्ना की कोई चिंता नहीं है. ठाकरे ने कहा कि अन्ना के आंदोलन से पहले केजरीवाल को कोई नहीं जानता था. अब उन्हें (केजरीवाल) अन्ना की कोई चिंता नहीं है. वो एक बार देखने तक नहीं आए. मोदी और केजरीवाल दोनों ने अन्ना का इस्तेमाल किया और फिर अलग कर दिया.

अन्ना हजारे की अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल का सोमवार को छठा दिन है. अन्ना हजारे (81) लोकपाल को लागू करने, सभी राज्यों में लोकायुक्त नियुक्त करने की मांग को लेकर 30 जनवरी से अनशन पर बैठे हैं. पिछले कुछ दिनों में हजारे का वजन पांच किलोग्राम तक कम हो गया है. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने उनसे आंदोलन खत्‍म करने की अपील की है.
अन्ना हजारे जिएं या मर जाएं, BJP को इसकी कोई परवाह नहीं अन्ना हजारे जिएं या मर जाएं, BJP को इसकी कोई परवाह नहीं Reviewed by पहाड़ समाचार www.pahadsamachar.com on Monday, February 04, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.