यूकेडी ने फूंका जिला पंचायत अध्यक्ष का पुतला, माघ मेले पर मंडरा रहे हैं संकट के बादल

उत्तरकाशी। जिला मुख्यालय का पौराणिक माघ मेले का आगाज 14 जनवरी से भारी  विवादों  से साथ शुभारंभ हुआ। मंगलवार को भी जिला पंचायत अध्यक्ष जशोदा राणा का नौगांव, पुरोला सहित उत्तरकाशी हनुमान चौक में पुतला दहन कर जिला पंचायत अध्यक्ष के खिलाफ प्रदर्शन एवं जमकर नारेबाजी की।

यमुनाघाटी में पुरोला विधायक राजकुमार के नेतृत्व में भारी संख्या मैं कांग्रेस कार्यकार्ताओं ने नौगांव, पुरोला में प्रदर्शन कर मेले का विरोध किया। इधर, जिला मुख्यालय में यूकेडी के वरिष्ठ नेता विष्णुपाल रावत  और जिलाध्यक्ष  जेठूलाल के नेतृत्व ने जिला पंचयत अध्यक्ष के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुई अध्यक्ष का पुतला दहन किया। आरोप लगाया कि जिला पंचायत अध्यक्ष ने रामलीला मैदान को करोडों रूपये मे बेचकर  भ्रष्टाचार का अखाड़ा बना दिया है। 

ठेकेदार आम जनता की जेब काट रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिला पंचायत ने मैदान को ठेकेदार को बेच दिया।  ठेकेदार उन दुकानों को 7 दिन के लिये 45 हजार रुपये तक बेच  रहे हैं। उन्होंने कहा कि मेले में लगे बैनर पोस्टरों ऐसा लग रहा कि यह मेला  एक पार्टी विशेष भाजपा का  मेला बनाकर रह गया । लेकिन, भाजपा के नेताओं ने इस मेले से किनारा कर रखा है। जिला पंचायत के सदस्य भी मेले से अलग हैं। जिला पंचायत उपाध्यक्ष प्रकाश चंद रामोला एवं जिला पंचायत सदस्य दीपक बिजल्वाण ने बताया कि जिला पंचायत अध्यक्ष जोशोदा राणा मनमर्जी से रामलीला मैदान को एक ही ठेकेदार को हर वर्ष दे रही हैं, जिससे ठेकेदार लूट खसोट कर रह है और जिले का नाम बदनाम हो रहा। वहींं, आम जनाता की जेब भी कट रही रही है। 

इधर, मेला स्थल में दूकानों के दाम को लेकर व्यापारियों की जमकर जिला पंचायत अध्यक्ष से झपड़प हुई। सामाजिका कार्यकर्ता पुरी का कहाना है कि जो फड़ 5000 में लगती थी, वह 20 हजार में लग रही है। वहींं,  जो दुकान 15000 हजार की होती थी, वो 45000 हजार की हो गई। जो की व्यापारियों एवं आम लोगों के जेब काटी जा रही है। मेले को लेकर हो रहे विवाद के चलते मेला बंद भी कराया सकता है। डीएम आशीष चौहान ने बताया कि यदि आंदोलन व झगड़े की स्थिति बनती है, तो सुरक्षा के  दृष्टि से मेला बंद भी करवाना पड़ सकता है।

उघर, जिला पंचायत के अपर मुख्य अधिकारी ने पूरे मामले से पल्ला झाड़ते हुये कहा कि मेरे द्वारा कोई भी निर्णय नहींं लिया गया। जो भी निर्णय लिया जा रहा वह स्वयं अघ्यक्ष ले रही हैंं। उत्तरकाशी के इतिहास म़ें यह पहला जिला पंचायत  का कार्यकाल होगा, जिसमेंं इतने विवाद हुये होंगे और जिला पंचायत अध्यक्ष का मेले को लेकर पुतला दहन किया होगा।
यूकेडी ने फूंका जिला पंचायत अध्यक्ष का पुतला, माघ मेले पर मंडरा रहे हैं संकट के बादल यूकेडी ने फूंका जिला पंचायत अध्यक्ष का पुतला, माघ मेले पर मंडरा रहे हैं संकट के बादल Reviewed by पहाड़ समाचार www.pahadsamachar.com on Tuesday, January 15, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.