राजपथ पर नजर आएगी बापू की जीवन यात्रा...उत्तराखंड का अनासक्ति आश्रम भी था अहम पड़ाव

देहरादून: दो अक्टूबर यानि गांधी जयंती। इस बार गांधी जयंती को 150 वर्ष पूरे होने जा रहे हैं। इसको देखते हुए ही इस बार की गणतंत्र दिवस परेड़ पूरी तरह गांधी जी की 150वीं जयंती को समर्पित रहेगी। राजपथ पर बापू की जीवन यात्रा को दर्शाया जाएगा। इसलिए इस वर्ष प्रत्येक राज्य भी गांधी से जुड़ी झांकी बना रहा है। उत्तराखंड के कौसानी की खूबसूरत वादियों में अनासक्ति आश्रम में बापू ने अपने जीवन के पहत्वपूर्ण पल व्यतीत किए थे। उन्होंने ही कौसानी को भारत का स्वीटजरलैंड कहा था। राजपथ पर अनासक्ति आश्रम और गांधी जी की आश्रम की गतिविधियों को झांकी के जरिए दिखाया जाएगा। 
केंद्र सरकार ने गणतंत्र दिवस परेड़ बापू को समर्पित करने का निर्णय लिया है। इसके लिए बाकायदा केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों को निर्देश जारी किए हैं। बापू की जयंती के 150 वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर गणतंत्र दिवस की परेड़ थीम महात्मा गांधी जी पर आधारित  रहेगी। विभिन्न राज्यों में महात्मा गांधी जी के प्रवास अवधि या उनसे जुड़े महत्वपूर्ण स्थलों से संबंधित झांकी को ही परेड़ में शामिल किया जायेगा। सभी राज्यों ने बापू से जुड़ी झांकियों के प्रस्ताव केंद्र को भेजे थे। जिसके बाद झांकी के लिए ‘‘अनासक्ति आश्रम’’ को चुना गया। 
बापू ने 1929 में इस आश्रम का भ्रमण किया था। यहां उन्होंने ‘अनासक्ति योग’ पुस्तक की समीक्षा लिखी थी। इस आश्रम का संचालन स्थानीय महिलाएं करती हैं। आश्रम को पुस्तकालय और शोध केन्द्र के रूप में विकसित किया गया है। झांकी में अनासक्ति योग लिखते हुए महात्मा गांधी जी की बड़ी आकृति को दिखाया गया है। झांकी में ऊंची पर्वत श्रृृंखलाओं को दिखाया गया है। साथ ही उत्तराखंड की सांस्कृतिक विरासत, जागेश्वर धाम, बद्रीनाथ और केदारनाथ मंदिर को दर्शाया गया है।

परेड़ के लिए 14 राज्यों और 6 मंत्रालयों की झांकी को चयनित किया गया है, जिसमें उत्तराखंड भी शामिल है। इन राज्यों में अरूणांचल प्रदेश, अंडमान एवं निकोबार, दिल्ली, गोवा, गुजरात, जम्मू-कश्मीर, कर्नाटक, महाराष्ट्र, पंजाब, सिक्किम, तमिलनाडू, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल शामिल है। 

राजपथ पर नजर आएगी बापू की जीवन यात्रा...उत्तराखंड का अनासक्ति आश्रम भी था अहम पड़ाव राजपथ पर नजर आएगी बापू की जीवन यात्रा...उत्तराखंड का अनासक्ति आश्रम भी था अहम पड़ाव Reviewed by पहाड़ समाचार www.pahadsamachar.com on Sunday, January 06, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.