पद्मश्री...प्रीतम के जागरों ने लोक को किया जागृत

पहाड़ समाचार
   जागर सम्राट प्रीतम भरतवाण। देश ही नहीं, दुनियाभर में इनके जागरों का जादू चलता है। ना केवल जागर, बिल्क डोलसागर के ज्ञाता प्रीमत भरतवाण कई विदेशी यूनिवर्सिटीज में लेक्चर दे चुके हैं। अमेरिका, इंग्लैंड, कनाडा, जर्मनी, मस्कट, ओमान, दुबई समेत कई देशों के मंचों पर प्रस्तुति दे चुके हैं। जागर गायन के साथ ही वह ढोल सागर के भी बड़े ज्ञाता हैं। ढोल को विधा में पारंगत हैं। ढोल सागर की हर ताल को बजाने में महाराथ हासिल है। वे अच्छे लेखक भी हैं। इतना ही नहीं, उत्तराखंडी लोकसंस्कृति के लगभग सभी वाध्ययंत्रों को बजाने में भी महाराथ रखते हैं। 

प्रीतम भरतवाण अमेरिका की सिनसिनाटी ओपन यूनिवर्सिटी, ओकलाहोमा और इलिनॉय यूनिवर्सिटी में बतौर विजिटिंग फैकल्टी अपनी सेवाएं दे चुके हैं। सिनसिनाटी ओपन यूनिवर्सिटी में वह पिछले लंबे समय से ढोल सागर की विजिटिंग फैकल्टी के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे हैं। सिनसिनाटी ओपन यूनिवर्सिटी में संगीत विभागाध्यक्ष प्रोफेसर स्टीफन सियोल ने अपनी पीएचडी के दौरान प्रीतम भरतवाण से भी पारंपरिक संगीत और ढोल वादन की शिक्षा ली थी।


प्रीतम भरतवाण को लोकगीत व संगीत के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्यो के लिए कई सम्मान भी प्रदान किए जा चुके हैं। उन्हें उत्तराखंड विभूषण, भागीरथी पुत्र, जागर शिरोमणि, सुर सम्राट, हिमालय रत्न, जैसे कई सम्मान और उपाधियां मिली हैं। देश ही नहीं दुनियाभर उन्हें कई सम्मान मिल चुके हैं।

अमर उजाला को दिए अपने बयान में प्रीतम भरतवाण कहते हैं कि यह केवल मेरा नहीं बल्कि समस्त उत्तराखंड देवभूमि की लोक संस्कृति का सम्मान है। यह उत्तराखंड की जागर विधा लोक गायन लोक वाद्य और लोक कलाकारों का सम्मान है। औजी समुदाय पिछली कई पीढ़ियों से जागर और ढोल वादन की जिन कलाओं को जीवित रखे हुए हैए यह उसका सम्मान है।
                                                                                                                                                                                                                                 सोर्स...अमर उजाला

पद्मश्री...प्रीतम के जागरों ने लोक को किया जागृत पद्मश्री...प्रीतम के जागरों ने लोक को किया जागृत Reviewed by पहाड़ समाचार www.pahadsamachar.com on Saturday, January 26, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.