...कोई मेरी बात ना सुने तो गोली मार देना, मुझे मुख्य सचिव बनना है

रीवा: मध्य प्रदेश में भले ही चुनाव संपन्न हो गए हों। मतगणना की तैयारी चल रही हो, लेकिन विवादों की सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा। पहले नेता जुबान से विवादों की बौछार कर रहे थे, अब मध्य प्रदेश के रीवा जिले की कलेक्टर ने विवादित बयान दिया है। ईवीएम मशीनों की सुरक्षा को लेकर वो चिंतित नजर आ रही हैं। उसी चिंता में उनकी जुबान फिसल गई और कैमरे में कैद हो गई। कलेक्टर प्रीति मैथिल नायक ने कहा कि इस चुनाव के चक्कर में वो अपनी 25 सालों की साख नहीं खराब नहीं कर सकती। फिर अपने सुरक्षाकर्मी से कहती हैं कि कोई उनकी बात न सुने तो गोली मार देना।

ईवीएम मशीनों से छेड़छाड़ को लेकर वो कांग्रेस प्रत्याशी अभय मिश्रा, सुंदरलाल तिवारी और त्रियुगी नारायण शुक्ल से मिलीं। उनसे मुलाकात के वक्त कलेक्टर प्रीति मैथिल नायक कहती हैं कि ये चुनाव मेरे लिए कुछ नहीं है, एक स्टेज है सिर्फ। इस फिजूल के चक्कर में 25 साल की साख खराब नहीं करूंगी। मुझे आगे प्रिंसिपल सेक्रेटरी, चीफ सेक्रेट्री बनना है।

इसके बाद नायक अपने सुरक्षाकर्मी की तरफ मुड़कर कहती हैं, ईवीएम के पास कोई न भटके, आप मुझपर भरोसा करो, गोली मार देना कोई मेरी बात न सुने तो। जब बयान पर बवाल शुरू हुआ तो अपनी सफाई में कलेक्टर नायक ने कहा कि ऐसा कोई आदेश लिखित में नहीं दिया गया है। उन्होंने कहा कि ईवीएम सुरक्षा को लेकर पुख्ता इंतजाम किए गए हैं, लेकिन लिखित में गोली मारने जैसा कोई नहीं दिया गया है।

नायक ने कहा कि हालांकि ईवीएम सुरक्षा को लेकर कोई भी कदम उठा सकते हैं। पांच राज्यों में से तीन में विधानसभा चुनावों के लिए वोटिंग हो चुकी है। छत्तीसगढ़ में 12 और 20 नवंबर को वोट डाले गए, वहीं मध्य प्रदेश और मिजोरम में 28 नवंबर को मतदान पड़े। राजस्थान और तेलंगाना में 7 दिसंबर को वोटिंग होनी है।




...कोई मेरी बात ना सुने तो गोली मार देना, मुझे मुख्य सचिव बनना है ...कोई मेरी बात ना सुने तो गोली मार देना, मुझे मुख्य सचिव बनना है Reviewed by पहाड़ समाचार www.pahadsamachar.com on Monday, December 03, 2018 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.