केदारनाथ जल प्रलय में बिछड़ी चंचल 5 साल बाद पहुंची अपने घर

पहाड़ समाचार...
देहरादून: केदारनाथ जल प्रलय। एक ऐसी प्रलय, जिसके बारे में सुनने के बाद लोगों को अब भी डर लगने लगता है। केदारनाथ आपदा में हजारों-हजार लोगों की जानें चली गई। कई लोग अपनों से बिछड़ गए। कई बिछड़ने के सालों बाद परिवार से मिल गए। ऐसा ही एक और वाकया सामने आया है। मामला अलीगढ़ का है। अलीगढ़ की चंचल 5 साल बाद अपने परिवार वालों से मिली है।
केदारनाथ में 2013 में आए जल प्रलय में परिवार से बिछड़ गई 17 वर्षीय चंचल 5 साल बाद अपने परिवार वालों से मिली। बन्नादेवी इलाके में रहने वाले चंचल के दादा हरीश चंद और दादी शकुंतला देवी के लिए यह किसी चमत्कार से कम नहीं है। उन्होंने बताया कि कि चंचल मनोरोगी है और वह माता-पिता के साथ केदारनाथ दर्शन करने गई थी। जल प्रलय में चचंल के पिता बाढ़ में बह गए। मां कुछ समय बाद घर लौट आई। उस समय चंचल की उम्र 12 वर्ष थी। बाढ़ में वह भी अपने परिवार से बिछड़ गई। चचंल को किसी ने जम्मू स्थित एक अनाथालय भेज दिया।

चाइल्ड लाइन अलीगढ़ के निदेशक ज्ञानेन्द्र मिश्र ने लड़की को उसके घर पहुंचाने में मदद की। मिश्र ने बताया कि कुछ महीने से आश्रम वाले देख रहे थे कि चंचल बोलचाल की सीमित क्षमता के बावजूद अलीगढ़ के बारे में कुछ बताने का प्रयास कर रही है। इसके बाद पुलिस की मदद ली गई और फिर चंचल को उसके परिवार में पहुंचाया गया। दादा दादी ने बताया कि चंचल अभी भी अपने पिता राजेश को पुकारती है।

केदारनाथ की तबाही को भारत की सबसे बड़ी प्राकृतिक आपदाओं में शामिल किया जाता है। उस हादसे में हजारों लोगों की मौत हो गई थी और कई लापता हो गए। अब तक कई लोगों के मिलने की खबरें सामने आ चुकी हैं। इस हादसे ने उत्तराखंड के पर्यटन को काफी नुकसान पहुंचाया। अब काफी हद तक राज्य का पर्यटन पुराने हालात में पहुंच रहा है, लेकिन, हादसे के निशान अभी भी उसकी को भयबहता को बयां करते हैं।
केदारनाथ जल प्रलय में बिछड़ी चंचल 5 साल बाद पहुंची अपने घर केदारनाथ जल प्रलय में बिछड़ी चंचल 5 साल बाद पहुंची अपने घर Reviewed by पहाड़ समाचार www.pahadsamachar.com on Wednesday, December 26, 2018 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.