आज से बदल गए पांच नियम, जानें आपकी लाईफ पर इनका इफेक्ट

देहरादून: आज से कई नियम बदलने जा रहे हैं। ये नियम आपको पूरी तरह प्रभावित करने वाले हैं। आपके रोजमर्रा के कामों पर इनको बड़ा असर पड़ने जा रहा है। इसलिए आपको इन बदले हुए नियमों को जानना जरूरी है। आज एक दिसंबर है और आज से देश में 5 नए नियम-कानून लागू हो जाएंगे। नए बदलावों का असर आप पर सीधे तौर पर पड़ने वाला है। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने भी अपने दो नियम बदले हैं। पेंशनधारियों के लिए भी दो नियमों में बदलाव किए गए हैं। हम आपको बताते हैं कि ये नए नियम क्या हैं और इनको आप पर क्या असर पड़ने वाला है...।
 

नहीं मिलेगी नेटबैंकिंग सर्विस
नियमों में बदलाव के मुताबिक आज से दिसंबर से एसबीआई बैंक के वो कस्टमर्स जिनका फोन नंबर बैंक में रजिस्टर नहीं है वह नेट बैंकिंग का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। अगर आपने अभी तक अपना फोन नंबर रजिस्टर नहीं कराया है तो आप बैंक से संपर्क कर सकते हैं, क्योंकि नंबर अपडेट कराने की अंतिम तारीख 30 नवंबर तक ही थी।

एसबीआई बडी किया बंद निकाल लें पैसा
एसबीआई ने अपने दूसरे नियम में बदलाव करते हुए अपने वॉलिट एसबीआई बडी को 30 नवंबर से बंद कर दिया है। अब इसकी जगह एसबीआई का योनो एप काम कर रहा है। इसलिए अगर एसबीआई बडी में आपने पैसा डाला है तो इसे निकाल लें। अगर आपने पैसा नहीं निकाला तो नुकसान भी हो सकता है।

पेंशनधारियों के लिए लाइफ सर्टिफिकेट जरूरी
पेंशनधारियों के लिए नियम में बदलाव किए गए हैं। पहले नवंबर 30 तारीख तक उन्हें अपना सर्टिफिकेट बैंक में जमा कराना होता था, हालांकि अभी भी इसकी समय सीमा 30 नवंबर ही है, लेकिन बदलाव बस इतना है कि अगर आपने दिए गए समय सीमा के अंदर लाइफ सर्टिफिकेट नहीं जमा करवाए तो आपका खाता बंद किया जा सकता है। जिन लोगों ने 30 नवंबर तक सर्टिफिकेट नहीं दिया है, उनको पेंशन लेने में दिक्कत हो सकती है।
 
लोन के लिए चुकानी पड़ेगी प्रोसेसिंग फीस
एसबीआई की शाखाओं से पेंशन निकालने वाले 76 वर्ष तक की उम्र के केंद्र सरकार, राज्य सरकार या रक्षा विभाग के पेंशनधारियों को आज से पेंशन लोन लेने पर प्रोसेसिंग फीस देनी होगी। ये बात अलग है कि इसके लिए बैंक ने त्योहार सीजन के तहत ऑफर के दिया है, जिसके तहत 30 दिसंबर तक प्रोसेसिंग फी माफ की गई है।
आज से बदल गए पांच नियम, जानें आपकी लाईफ पर इनका इफेक्ट आज से बदल गए पांच नियम, जानें आपकी लाईफ पर इनका इफेक्ट Reviewed by पहाड़ समाचार www.pahadsamachar.com on Saturday, December 01, 2018 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.