pahadsamachar.com : गजब: कंपनियों को पेट्रोल-डीजल के रेट करने वाला सर्कुलर नहीं पहुंचा पाए सरकार के अधिकारी

देहरादून: केंद्र सरकार ने पेट्रोल-डीजल के दाम कम करने को लेकर कल एक बड़ा फेसला लिया था, हालांकि उससे फौरी राहत ही मिल पाई। केंद्र सरकार के साथ ही भाजपा शासित प्रदेशों में भी तेल की कीमतें कम करने का ऐलान किया गया। उसीके तहत उत्तराखंड सरकार ने भी तेल की कीमतें कम करने का एलान किया था। हैरत की बात यह है कि सरकार के अधिकारी दाम कम करने वाला सर्कुलर तंल कंपनियों को नहीं पहुंचा पाए। 

केंद्र और राज्य की छूटों को मिलाकर प्रदेश के लोगों को कुल 5 रुपये की छूट मिलती, लेकिन विभागीय अधिकारी कल रात से लेकर आज सुबह तक सरकार की ओर से जारी सर्कुलर ही तेल कंपनियों के पास नहीं पहुंचा पाए। जिसका नुकसान प्रदेश की जनता को भुगतना पड़ा। लोगों को इससे दिक्कतों का सामना भी करना पड़ा। जिनको उम्मीद थी कि आज उनको पांच रुपये की छूट मिलेगी, उनको निराशा ही हाथ लगी। 

सरकार ने भले की तेल की कीमतें कम करने का एलान कर लोगों को राहत देने की बात कही हो, लेकिन राहत लोगों को आज भी नहीं मिल पाई। उत्तराखंड में राज्य स्तर की छूट का सर्कुलर ही तेल कंपनियों को नहीं दिया गया। सर्कुलर नहीं मिलने से तेल कंपनियों ने रेट कम नहीं किए। पवर्तीय पेट्रोल-डीजल डीलर्स एशोसिएशन के अध्यक्ष वीरेंद्र सिंह चड्ढा ने बताया कि सरकार ने जो घोषणा की है। उसका सर्कुलर ही उनको नहीं दिया गया। 

रेट कम करने का लोगों को लाभ नहीं मिला है। केंद्र सरकार की ओर से पेट्रोल पर दो रुपये और डीजल पर ढाई रुपये की छूट मिली है। राज्य में छूट का एलान करने के बावजूद छूट नहीं मिलने से लोगों में निराशा देखने को मिली। रेट को लेकर पेट्रोल पंपों पर ग्राहक पंप कर्मिर्यों से जूझते भी नजर आए। कई जगहों पर लोगों की पंप संचालकों से बहस भी हुई।
pahadsamachar.com : गजब: कंपनियों को पेट्रोल-डीजल के रेट करने वाला सर्कुलर नहीं पहुंचा पाए सरकार के अधिकारी pahadsamachar.com : गजब: कंपनियों को पेट्रोल-डीजल के रेट करने वाला सर्कुलर नहीं पहुंचा पाए सरकार के अधिकारी Reviewed by पहाड़ समाचार www.pahadsamachar.com on Friday, October 05, 2018 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.