पेट्रोल-डीजल के दामों की मार से लोगों को घर बनाना पड़ेेेगा महंगा

देहरादून : पेट्रोल-डीजल केे बढ़ते दामों की मार लोगों पर और दूसरे तरीकों से भी पड़ने वाली है। लगातार बढ़ती कीमाताेें के कारण वाहन भाड़ा बढ़ गया हैैै। परिवहन लागत में वृद्धि का असर जल्‍द सीमेंट की कीमतों पर पड़ सकता है। सीमेंट कंपनियों के मुताबिक महंगी परिवहन लागत के असर को कम करने के लिए अगले छह महीने में सीमेंट के दाम 10 प्रतिशत तक बढ़ सकते हैं। भाड़ा बढ़ने सीमेंट की कीमतों में बढ़ोतरी होगी, जि‍सका सीधा असर घर बनाने वालों और दूसरे कार्यों पर पड़ेगा।
देश इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर सेक्‍टर की ग्रोथ धीमी 
 सीमेंट विनिर्माता संघ (सीएमए) के अनुसार, 2018-19 की पहली छमाही में सीमेंट उद्योग में 14 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। 2009-10 के बाद पहली बार दहाई अंक में वृद्धि दर्ज की गयी है। सीएमए ने एक बयान  में कहा कि‍ सीमेंट की कीमतों की बहुत अधि‍क जरूरत है। पिछले एक साल में ईंधन की कीमतों में 60-70 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। बढ़ी कीमतों के प्रभाव को कम करने के लिए सीमेंट के दाम बढ़ाना जरूरी है।

उन्होंने कहा कि पिछले 6-7 साल से सीमेंट की कीमतें करीब-करीब स्थिर हैं लेकिन इस दौरान लागत और मुद्रास्फीति बढ़ी है। उन्होंने कहा कि सीमेंट की मांग में तेजी के बावजूद कीमतें काफी निम्न स्तर पर बनी हुई हैं। उन्होंने दावा किया कि वर्तमान में दिल्ली-एनसीआर में सीमेंट की 50 किलो की बोरी की कीमत 300 रुपये से कम है।

सीमेंट की कीमतों में कितनी बढ़ोतरी होगी इस सवाल पर चौकसी ने कहा कि ईंधन लागत और परिवहन शुल्क में वृद्धि के प्रभाव को कम करने के लिए सीमेंट के प्रति बोरी पर कम से कम 25-30 रुपये यानी 8 से 10 प्रतिशत की वृद्धि की जाएगी।
पेट्रोल-डीजल के दामों की मार से लोगों को घर बनाना पड़ेेेगा महंगा पेट्रोल-डीजल के दामों की मार से लोगों को घर बनाना पड़ेेेगा महंगा   Reviewed by पहाड़ समाचार www.pahadsamachar.com on Tuesday, October 16, 2018 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.