कोई गिरे हुए रूपये को क्यों नहीं उठता...?

पहाड़ समाचार.com
मुंबई: रुपया लगातार गिरता जा रहा है। बातों और भाषणों में देश का स्तर तो उठ रहा है। भले ही दुनियाभर में अलग-अलग कैटेगिरी में देश की रैंकिंग  गिर रही हो। चलो छोड़ो, कोई बस इतना बता दे कि गिरे हुए रुपये को कोई क्यों नहीं उठा रहा। क्या रुपया गिरकर इतना भरी हो गया कि अब उसे उठाया नहीं जा सकेगा या फिर पेट्रोल-डीजल की दामों की तरह यह भी सरकार के हाथ में नहीं है। 

रुपये ने आज डॉलर के मुकाबले आज एक और रिकॉर्ड बना लिया। रुपये ने आज डॉलर के मुकाबले 73 का स्तर तोड़ दिया। आज सुबह रुपया खुलते ही 43 पैसे कमजोर हो गया है। रुपया आज 73.35 के स्तर पर पहुंच गया। रुपए में कमजोरी के पीछे डॉलर की ज्यादा मांग होना है। तेल की बढ़ती कीमतों के कारण इंपोर्ट करने वालों की मांग के कारण रुपए में गिरावट आई।

फॉरेक्स मार्केट में भारतीय रुपये 43 रुपए गिरकर 73.34 के स्तर पर पहुंच गया। बुधवार सुबह को रुपया 73.26 के स्तर पर खुला। सोमवार को रुपए 72.91 पर बंद हुआ था। सोमवार को विदेशी निवेशकों ने 1842 करोड़ रुपये के शेयर बेचे। निवेशकों को विदेशी पूंजी और क्रूड की कीमत 85 प्रति बैरल के पार जाने से चिंता हो रही है।

सोमवार को भी रुपया 43 पैसे गिरा था और 2 हफ्तों के निचले स्तर 72.91 के स्तर पर पहुंच गया था। फॉरेक्स डीलर्स के मुताबिक डॉलर की ज्यादा मांग के अलावा फिस्कल डेफिसिट बढ़ने की चिंता भी है। साथ ही भारत से पूंजी बाहर जा रही है। कल गांधी जयंती होने के कारण फॉरेक्स मार्केट और शेयर मार्केट बंद था।

आज एशियाई बाजारों में भी गिरावट देखी जा रही है। सेंसेक्स और निफ्टी भी आज गिरकर खुले। सेंसेक्स 241 प्वाइंट और निफ्टी करीब 90 प्वाइंट की गिरावट के साथ कारोबार कर रहा था। निफ्टी बैंक इंडेक्स भी 160 प्वाइंट नीचे था। बाजार में लगातार असमानता का स्तर बना हुआ है। कभी बाजार आसमान छू रहा है, तो कभी एकदम से गोता लगा दे रहा है। पिछले कुछ समय से स्थीरता की कमी नजर आ रही है।
कोई गिरे हुए रूपये को क्यों नहीं उठता...? कोई गिरे हुए रूपये को क्यों नहीं उठता...? Reviewed by पहाड़ समाचार www.pahadsamachar.com on Wednesday, October 03, 2018 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.