गि‍रता जा रहा है रुपया, संभालने वाला कोई नहीं

पहाड़ समाचार.com
मुंमबई :  दावे भले ही फ्रांस को पछाड़ कर दुनि‍या की छठी सबसे बड़ी अर्थ व्‍यवस्‍था होने के कि‍ए जा रहे हों, लेकि‍न अपना संभलने के बजाय गि‍रता ही जा रहा है। आज शेयर बाजार खुलते ही रुपया की गिरावट ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए। रुपया खुलते ही डॉलर के मुकाबले 70 के नि‍चले स्तर पर पहुंच गया। रुपया पहली बार 70 के स्तर पर पहुंचा है। इस साल रुपये में 10 फीसदी की गिरावट आ चुकी है। रुपया गिरकर 70.08 पर पहुंच गया। सोमवार को रुपया 69.93 पर पहुंच गया था।


दरअसल, दुनि‍याभर में करेंसी के दामों में उथल-पुथल रुपये में गिरावट का प्रमुख कारण है। तुर्की की करेंसी लीरा में भी कल भारी गिरावट दर्ज की गई थी। शुक्रवार से अब तक रुपया 1.09 रुपए गिर चुका है। हालांकि‍ बाजार खुलने के कुछ देर बाद कुछ वृहद आर्थिक आंकड़ों में राहत के रुझान दिखने के बाद घरेलू मुद्रा में सुधार देखा गया है। इसके अलावा शेयर बाजारों की अच्छी शुरुआत से भी रुपया को समर्थन मिला है। हालांकि अन्य विदेशी मुद्राओं के मुकाबले डॉलर की मजबूती से रुपया में यह सुधार थम गया।

इस साल रुपया एशियाई करेंसी के मुकाबले सबसे ज्यादा गिरा है। इसमें जनवरी से अबतक 10 फीसदी की गिरावट आ चुकी है। मोतीलाल ओसवाल सिक्योरिटीज के करेंसी एनालिस्ट गौरांग सोमैया के मुताबिक 'हमें लगता है कि रुपए में और कमजोरी आएगी।' आनंद राठी के रिसर्च एनालिस्ट रूषभ मारु के मुताबिक रुपए का संकट जल्दी नही सुलझने वाला है। रिजर्व बैंक के बीच में नहीं पड़ने से रुपया और कमजोर हो रहा है। डॉलर में इसलिए मजबूती आ रही है क्योंकि अमेरिका में फेडरल रिजर्व ब्याज दरें बढ़ा सकता है। इसी कारण रुपया गिर रहा है

गि‍रता जा रहा है रुपया, संभालने वाला कोई नहीं गि‍रता जा रहा है रुपया, संभालने वाला कोई नहीं Reviewed by पहाड़ समाचार www.pahadsamachar.com on Tuesday, August 14, 2018 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.